Sale!

भविष्य मल्लिका

51.00

यह पुस्तक भविष्यवाणियों का संस्करण है इसमें भविष्य मलिका से कुछ भविष्यानियां ली गई है, भविष्य मालिका कोई एक ग्रंथ नहीं बल्कि ये कई भागों में बटा हुआ है और इस PDF पुस्तक में जो तथ्य हैं वह सभी ग्रंथों से लिए गए हैं, पंच शाखाओं में श्रेष्ठ संत श्री अच्युतानंद दास जी ने मलिका ग्रंथों की रचना की थी उन ग्रंथों को रचने में पंच सखाओँ का भी बड़ा योगदान रहा है, भविष्य मलिका के अनुसार मनुष्यों का पाप इतना अधिक बढ़ चुका है कि कलयुग की आयु 43200 वर्षों से घटकर 5000 वर्ष ही रहा गई है, कलयुग पांच हजार शेष रह गया है, कलयुग के पांच हजार वर्ष पूरे हो चुके हैं और हर एक युग के बाद 100 वर्षों का प्रातःकाल आता इसके बाद 100 वर्षों का संध्या काल आता है, 100 वर्षों का प्रातः काल बहुत पहले ही समाप्त हो चुका है और अभी 2023 में कलयुग का संध्या काल चल रहा है यानि अभी तक कलयुग के 5124 वर्ष बीत चुके हैं ये दुनिया युग परिवर्तन के बहुत नजदीक आ चुकी है ।

  • 2020 से 2032 के बीच भयानक स्तिथि उत्पन होगी जिसमें मनुष्य की आबादी का बड़ा हिस्सा नष्ट हो जाएगा।
  • ओडिशा का एक बड़ा बांध हीराकुंड जो शत्रुओं द्वारा अंतिम समय में तोड़ दिया जाएगा ।
  • पाकिस्तान राज्य पूरा तहस नहस हो जायेगा और जब तक उन्हें बुद्धि आएगी तब तक देर हो चुकी होगी ।
  • ओडिशा के अंतिम राजा दिव्य सिंह देव होंगे जिनको सिर्फ पुत्र नही होंगे।
  • कलयुग के अंत में पुरुष बच्चा पैदा कर सकेंगे ( पुष्टि करने के लिए आप Google पर Male Pregnancy खोज सकते हैं )
  • कांग्रेस नही रहेगी छोड़ चली जायेगी और बीजेपी भारत के सिंहासन पर बैठकर राज करेगी, कमल का फूल राज करेगा राम नाम की जिद्द करेगा ।
  • श्री जगन्नाथ जी के मुख्य मंदिर से एक विशाल पत्थर गिरेगा और मंदिर पर उल्लू बैठेगा तथा श्री जगन्नाथ जी के आसपास के क्षेत्र में अनेकों बार उल्का पिंड गिरेंगे ।
  • जगन्नाथ पुरी के पास समुद्र से भयंकर तूफान उठेगा एवंग उसके टकराने से श्री जगन्नाथ मंदिर का चक्र टेढ़ा हो जायेगा ।
  • मोबाइल, कंप्यूटर काम नही करेंगे, कल कारखाने सभी नष्ट हो जायेंगे तथा स्कूल कालेज खाते बंद हो जायेंगे ।
  • तीसरे विश्व युद्ध में भारत पर शत्रु देशों का हमला होगा वे परमाणु बम का प्रयोग भी करेंगे तब भगवान कल्कि शत्रु देशों के द्वारा इस्तेमाल किए गए परमाणु बम निष्क्रिय कर देंगे ऐसेमें शत्रु देशों के सैनिक भय भीत हो जायेंगे ।
  • पहला हमला दिल्ली में होगा तथा दिल्ली ध्वस्त होकर खंडहर का रूप ले लेगा ।
  • देशों देशों के बीच इतना भयानक युद्ध छिड़ेगा कि पृथ्वी खंडहर नजर आएगी ।

तीसरे विश्व युद्ध में परमाणु बम का प्रयोग होगा जिसके परिणाम स्वरूप दुनिया अस्त व्यस्त हो जायेगी, अमेरिका ने जापान के ऊपर 1945 में 6 और 9 अगस्त को परमाणु बम से हमला किया था आने वाले समय में जापान उसका बदला लेगा ।

भारत में स्तिथि गंभीर होने पर मिलिट्री सासन लग जायेगा, भारत पर 13 मुस्लिम देश पाकिस्तान और तुर्की सहित चीन के साथ मिलकर भारत पर हमला करेंगे और अमरीका भी इन्ही के साथ होगा ।
भारत का युद्ध में साथ देने वाले देश: रूस, जर्मनी, जापान होंगे हालाकि भविष्य मलिका में जगह जगह पर फ्रांस के भारत का साथ देने का वर्णन भी मिलता है ।

 

In stock

SKU: JG25A7W83G Categories: , Tags: ,

Description

यह पुस्तक भविष्यवाणियों का संस्करण है इसमें भविष्य मलिका से कुछ भविष्यानियां ली गई है, भविष्य मालिका कोई एक ग्रंथ नहीं बल्कि ये कई भागों में बटा हुआ है और इस PDF पुस्तक में जो तथ्य हैं वह सभी ग्रंथों से लिए गए हैं, पंच शाखाओं में श्रेष्ठ संत श्री अच्युतानंद दास जी ने मलिका ग्रंथों की रचना की थी उन ग्रंथों को रचने में पंच सखाओँ का भी बड़ा योगदान रहा है, भविष्य मलिका के अनुसार मनुष्यों का पाप इतना अधिक बढ़ चुका है कि कलयुग की आयु 43200 वर्षों से घटकर 5000 वर्ष ही रहा गई है, कलयुग पांच हजार शेष रह गया है, कलयुग के पांच हजार वर्ष पूरे हो चुके हैं और हर एक युग के बाद 100 वर्षों का प्रातःकाल आता इसके बाद 100 वर्षों का संध्या काल आता है, 100 वर्षों का प्रातः काल बहुत पहले ही समाप्त हो चुका है और अभी 2023 में कलयुग का संध्या काल चल रहा है यानि अभी तक कलयुग के 5124 वर्ष बीत चुके हैं ये दुनिया युग परिवर्तन के बहुत नजदीक आ चुकी है ।

Additional information

Download Size

12MB

Format

PDF

Book Name

भविष्य मल्लिका

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “भविष्य मल्लिका”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
X